Bharat ka Itihas – Bodh or Jain Dharm Part -4

Bodh or Jain Dharm – बौद्ध एवं जैन धर्म Part – 4


प्रश्न 1. जैनियों के पहले तीर्थकर कौन थे ?
क. अरिष्टनेमि
ख. पार्श्वनाथ
ग. अजितनाथ
घ. ऋषभ

सही उत्तर देखे
घ. ऋषभ (जैनियों के प्रथम तीर्थकर ऋषभदेव थे | इनकी मृत्यु अट्ठावय (कैलाश पर्वत) पर हुई थी | चौबीसवें तीर्थकर महावीर स्वामी थे |)



प्रश्न 2. महावीर कौन थे ?
क. 21वें तीर्थकर
ख. 22वें तीर्थकर
ग. 23वें तीर्थकर
घ. 24वें तीर्थकर

सही उत्तर देखे
घ. 24वें तीर्थकर (महावीर जैनियों के 24वें तीर्थकर एव जैन धर्म के वास्तविक संस्थापक माने जाते है | इसके 23वें तीर्थकर पार्श्वनाथ थे |)



प्रश्न 3. लार्ड महावीर की मृत्यु कहा हुई थी ?
क. श्रवण बेलगोला
ख. पावापुरी
ग. कलुगुमलै
घ. लुम्बिनी उद्यान

सही उत्तर देखे
ख. पावापुरी (भगवान महावीर की मृत्यु पावापुरी में हुई थी | जो मल्ल गणराज्य की राजधानी थी |)



प्रश्न 4. महावीर की माता कौन थी ?
क. यशोधा
ख. अनोज्जा
ग. त्रिशला
घ. देवानन्दी

सही उत्तर देखे
ग. त्रिशला ( महावीर स्वामी के बचपन का वर्धमान था | जैन अनुश्रुतियों में इनके पिता सिद्धार्थ के दो अन्य नाम श्रेयाम्स और यसाम्स मिलते है | इनकी माता त्रिशला के भी दो नाम प्रियकारिणी और विदेहदत्ता मिलते है |)



प्रश्न 5. लार्ड महावीर का 2600 वा जन्मोत्सव (Anniversary) कब मनाया गया ?
क. 2000ई. में
ख. 2001ई. में
ग. 2002ई. में
घ. 2003ई. में

सही उत्तर देखे
क. 2000ई. में (महावीर का जन्म 599ई. पू. में हुआ था, इस जन्मतिथि के आधार पर महावीर का 2600वा जन्मोत्सव 2000ई. में था | इस जन्मतिथि के सन्दर्भ में उनकी मृत्यु 527ई. पू. में हुई थी | महावीर के जन्म की एक अन्य तिथि 540ई. पू. तथा मृत्यु की तिथि 463ई. पू. है )



प्रश्न 6. महावीर का जन्म किस नाम के क्षत्रिय गोत्र में हुआ था ?
क. शाक्य
ख. ज्ञात्रिक
ग. मल्लास
घ. लिच्छवी

सही उत्तर देखे
ख. ज्ञात्रिक (महावीर का जन्म 599ई. पूर्व के लगभग वैशाली के निकट कुण्डग्राम में हुआ था | उनके पिता सिद्धार्थ ज्ञातृक क्षत्रियो के संघ के प्रधान थे जो वज्जि संघ का एक प्रमुख सदस्य था | उनकी माता त्रिशला अथवा विदेहदत्ता वैशाली के लिच्छवी कुल के प्रमुख चेटक की बहन थी | अतः स्पष्ट है की महावीर का जन्म ज्ञात्रिक कुल में हुआ था |)



प्रश्न 7. जैन साहित्य को क्या कहते है ?
क. त्रिपिटक
ख. वेद
ग. आर्यसूत्र
घ. अंग

सही उत्तर देखे
घ. अंग (जैन साहित्य को ‘आगम’ (सिद्धांत) कहा जाता है | इसके अंतर्गत 12 अंग, 12 उपांग, 10 प्रकीर्ण, 6 छेदसूत्र, 4 मूलसूत्र एव अनुयोग सूत्र आते है | बौद्ध साहित्य को ‘त्रिपिटक’ कहा जाता है | )



प्रश्न 8. प्राचीन भारत का प्रसिद्ध वह शासक कौन था जिसने अपने जीवन के अंतिम दिनों में जैन धर्म अपना लिया था ?
क. समुद्रगुप्त
ख. बिंदुसार
ग. चन्द्रगुप्त
घ. अशोक

सही उत्तर देखे
ग. चन्द्रगुप्त (चन्द्रगुप्त मौर्य ने अपने जीवन के अंतिम दिनों में जैन धर्म अपना लिया था उसने जैन साधु भद्रबाहु से जैन धर्म की दीक्षा लेकर श्रवणबेलगोला (कर्नाटक) स्थित चंद्रगिरि पहाड़ी पर 298 ई. पूर्व में उपवास द्वारा अपना शरीर त्यागा था |)


 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *